Wednesday, December 2, 2009

अहसास

क्यों उदास है खुद से ,
की बात अभी बाकि है
तनहा नहीं जरा भी तू ,
मेरा साथ अभी बाकि है
तड़पती है रूह  कभी ,
मगर आस अभी बाकि है,
मरने की आरजू न कर की ,
जज्बात अभी बाकि है,
जो खो गए है कहीं ,
वो अहसास अभी बाकि है,
जरा मुड कर तो देख ले,
मेरे साँस अभी बाकि है,
राहो मे ये भूल न जाना ,
मेरा प्यार अभी बाकि है,

No comments: